विपक्ष के एक बड़े नेता ने पूछा, दो बार PM बन गए, अब क्या करना है? मोदी ने दिया ये जवाब

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बृहस्पतिवार को कहा कि एक बार उनके पास विपक्ष के एक बहुत बड़े नेता आए थे. विपक्षी नेता (opposition leader) ने उनसे कहा था कि आपको तो जनता ने दो बार पीएम (PM twice) बना दिया, अब क्या करना है? इसपर पीएम मोदी ने कहा कि उनका मकसद (their motive) योजनाओं (plans) के मामले में 100 फीसदी लक्ष्यों (100% goals) को हासिल करना है.

आराम करने का इरादा नहीं
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भले ही वह दो बार देश के प्रधानमंत्री बन गए हों लेकिन उनका इरादा ‘आराम’ करने का नहीं है, बल्कि उनका सपना सरकारी योजनाओं का शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करना है और इसके लिए वह नए संकल्पों और नई ऊर्जा से जुट जाने की तैयारी में हैं।

पीएम मोदी ने उत्कर्ष समारोह को किया संबोधित
यहां उत्कर्ष समारोह (Utkarsh Ceremony) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि एक दिन विपक्ष के एक ‘बहुत बड़े नेता’ उनसे मिलने आए थे और उन्होंने उनसे कहा था कि ‘पीएम मोदी क्या करना है. दो-दो बार आपको देश ने प्रधानमंत्री बना दिया. अब क्या करना है?’

राजनीतिक विरोधियों का आदर करते हैं पीएम मोदी
हालांकि, प्रधानमंत्री ने उस नेता का नाम नहीं बताया लेकिन कहा कि वो उनका राजनीतिक विरोध करते रहते हैं लेकिन ‘मैं उनका आदर भी करता रहता हूं.’ पीएम मोदी ने कहा, ‘उनको (विपक्षी नेता) लगता था कि दो बार प्रधानमंत्री बन गया मतलब बहुत कुछ हो गया. उनको पता नहीं है मोदी किसी अलग मिट्टी का है. गुजरात की धरती ने उसको तैयार किया है और इसलिए जो भी हो गया, अच्छा हो गया, चलो अब आराम करो, नहीं मेरा सपना है- सैचुरेशन.’

उन्होंने कहा कि योजनाओं के शत-प्रतिशत लक्ष्य की तरफ उनकी सरकार आगे बढ़ी है और अब सरकारी मशीनरी को भी इसकी आदत डालनी है. पिछले करीब 8 साल में सभी के प्रयासों से कई योजनाओं को शत प्रतिशत ‘सैचुरेशन’ के करीब-करीब ला पाने में सफलता मिली है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘अब आठ साल के इस महत्वपूर्ण अवसर पर, एक बार फिर कमर कस करके, सबका साथ लेकर के, सबके प्रयास से आगे बढ़ना ही है और हर जरूरतमंद को, हर हकदार को उसका हक दिलाने के लिए जी-जान से जुट जाना है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *