दो किरदार, एक मीडिया इंटरव्यू और लाखो की धोखाधड़ी! गृहमंत्री को कहती अंकल, जानिए खुद को PM का एडवाइजर बताने वाली कश्मीरा और उसके पति की कहानी – देखे VIDEO

सीन: 1

दिन: बुधवार, तारीख: 19 जून, 2024

महाराष्ट्र के सातारा में रात करीब 11 बजे पुलिस कश्मीरा पवार और गणेश गायकवाड़ के घर पहुंची। कश्मीरा के बारे में आसपास के लोग जानते थे कि वो PMO में अफसर है। PM मोदी से सीधे बात करती है। गृहमंत्री अमित शाह के इतने करीब है कि उन्हें अंकल कहती है। पुलिस आई तो पता चला कि कश्मीरा PMO में अफसर नहीं, फ्रॉड है और कई लोगों को ठग चुकी है।

इनमें से तीन लोग सामने आए और पुलिस को बताया कि कश्मीरा और गणेश ने उनसे 82 लाख रुपए ठगे हैं। एक विक्टिम ने बहन मानकर कश्मीरा की शादी कराई थी, उसी का होटल हड़प लिया। इसके बाद पुलिस ने 29 साल की कश्मीरा और उसके पति 32 साल के गणेश को अरेस्ट कर लिया।

 

सीन 2

दिन: मंगलवार, तारीख: 11 दिसंबर, 2017

एक मराठी अखबार के फ्रंट पेज पर खबर छपी कि सातारा की रहने वाली 24 साल की लड़की कश्मीरा प्रधानमंत्री कार्यालय में सलाहकार नियुक्त हुई है। कुछ देर बाद एक मराठी चैनल पर ब्रेकिंग न्यूज चली। दावा किया गया कि कश्मीरा सीधे नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजीत डोभाल को रिपोर्ट करेंगी।

कश्मीरा की PMO में नियुक्ति की खबर एक मराठी अखबार के फ्रंट पेज पर छपी थी। 11 दिसंबर, 2017 को गणेश ने ये खबर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की थी।

चैनल के एक रिपोर्टर ने कश्मीरा का इंटरव्यू लिया। इसमें कश्मीरा बताती है, ‘PMO में नियुक्ति के बाद मैंने सातारा जिला कलेक्टर ऑफिस से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए NSA अजीत डोभाल और PMO के बड़े अफसरों से बात की। मैं PMO से जुड़कर ग्रामीण विकास विभाग में काम करूंगी।’

कश्मीरा ने इसी इंटरव्यू में कहा कि मैंने केंद्र सरकार के मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत एक कॉम्पिटिशन जीता है। इसके लिए मुझे राष्ट्रपति के हाथों अवॉर्ड मिला है। मेरे बनाए स्मार्ट विलेज प्रोजेक्ट पर उत्तर प्रदेश के तीन गांव में काम हुआ है। मैं PMO से जुड़कर अलग-अलग फील्ड की स्कीम के बारे में केंद्र सरकार को सलाह दूंगी।

ये फोटो गणेश ने 6 मई 2018 को पोस्ट की थी। गणेश ने बताया था कि ये कश्मीरा की जॉइनिंग वाले दिन की फोटो है।

कश्मीरा ने दावा किया कि MPSC का एग्जाम पास कर मुझे डिप्टी कलेक्टर पद पर नियुक्ति मिली थी, बाद में मुझे PMO से अटैच किया गया।

ठगी और फर्जी डॉक्यूमेंट बनाने जैसे गंभीर आरोप होने के बावजूद कश्मीरा और गणेश को एक दिन में ही जमानत मिल गई। इसके बाद से दोनों गायब हैं। कश्मीरा और गणेश कौन हैं, कैसे उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि कश्मीरा PMO में है, ये जानने के लिए पहला इंटरव्यू लेने वाले रिपोर्टर और उसका शिकार हुए विक्टिम से बात की।

पहला किरदार: फिलिप भंबल, होटल कारोबारी

फिलिप ने कश्मीरा का कन्यादान किया, उनके ही होटल पर कब्जा किया

सातारा के होटल कारोबारी फिलिप भंबल ने दिसंबर, 2022 में कश्मीरा और गणेश के खिलाफ पहली शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा कि दोनों पूरे महाराष्ट्र में लोगों को PMO में नियुक्ति के डॉक्यूमेंट और उत्तर प्रदेश, नगालैंड, त्रिपुरा और लोकसभा सचिवालय से टेंडर दिखाकर धोखा दे रहे हैं।

कश्मीरा और गणेश फर्जी टेंडर डॉक्यूमेंट भेजकर लोगों को फंसाते थे। ये टेंडर अलग-अलग राज्यों के होते थे।

वे बताते हैं, ‘मैं और गणेश एक ही कॉलेज में थे। गणेश को शराब की लत थी। 2017 में मैंने उसे रिहैब सेंटर में भर्ती करवाया था। इसी के बाद उसकी मुलाकात कश्मीरा से हुई थी।’

‘गणेश ने कश्मीरा को मुझसे मिलवाया था। उसने कहा था कि कश्मीरा PMO में अधिकारी है। दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ीं और 2020 में मैंने महाबलेश्वर के एक मंदिर में दोनों की शादी करवा दी। मैं कश्मीरा को बहन मानता था, इसलिए मैंने कश्मीरा का कन्यादान भी किया था।’

कश्मीरा ने कहा- गणेश सिर्फ दोस्त, भास्कर के पास शादी के फोटो-वीडियो

गिरफ्तारी के बाद कश्मीरा ने पुलिस को बताया कि वो और गणेश सिर्फ दोस्त है। हालांकि फिलिप ने दोनों की शादी के फोटो-वीडियो शेयर किए हैं।

फिलिप के मुताबिक, ये फोटो कश्मीरा और गणेश की शादी की है। ये शादी किसी मंदिर में हुई थी।

फिलिप बताते हैं, ‘मैं कश्मीरा को परिवार का सदस्य मानता था। एक दिन दोनों ने मुझसे कहा कि मैं अपना होटल उन्हें लीज पर दे दूं।’

फिलिप आरोप लगाते हैं कि कश्मीरा और गणेश ने मेरे होटल को क्रिमिनल्स का अड्डा बना दिया। पहले होटल से रोज 70 हजार रुपए की कमाई होती थी, ये घटकर 5 हजार रुपए रह गई। ये देखकर मैंने होटल वापस मांगा, तो दोनों ने मेरे साथ मारपीट की। फिर मेरे खिलाफ केस दर्ज करवा दिया।

कश्मीरा के पास रेंज रोवर, पोर्श और BMW जैसी लग्जरी गाड़ियां

फिलिप आगे कहते हैं, ‘कश्मीरा और गणेश को लग्जरी कारों का शौक है। उनके पास रेंज रोवर, BMW और पोर्श जैसी महंगी कार हैं। उनके पास 27 लाख रुपए की एक बाइक भी है। मुझे 2021 में पता चल गया था कि कश्मीरा PMO में अधिकारी नहीं है और न ही गणेश रॉ ऑफिसर है। कई और लोग भी शिकायतें लेकर आने लगे कि दोनों ने उनसे लाखों रुपए ठगे हैं।’

मैंने दोनों के फर्जीवाड़े के बारे में पुलिस को बताया था, लेकिन लिखित शिकायत होने के बावजूद कार्रवाई नहीं हुई। उल्टा मेरे खिलाफ केस दर्ज कर लिया। 9 सितंबर, 2020 को मैंने केस दर्ज कराया था। इसके बाद 2023 में हाईकोर्ट गया। वहां से PMO, कलेक्टर और सातारा पुलिस को नोटिस जारी किया गया। इसके बाद पुलिस एक्शन में आई और अब उनके खिलाफ कार्रवाई हो रही है।’

दूसरा किरदार: गोरख मराल, बिजनेसमैन

कश्मीरा और गणेश ने टेंडर दिलाने के बहाने 50 लाख रुपए ठगे

कश्मीरा और गणेश की गिरफ्तारी के बाद SP सातारा समीर शेख ने बताया था कि इन दोनों के खिलाफ तीन लोगों ने शिकायत की है। इनमें से एक है गोरख मराल। 49 साल के गोरख मराल बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर हैं।

उन्होंने पुणे शहर के बंड गार्डन पुलिस स्टेशन में कश्मीरा और गणेश के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। वे बताते हैं, ‘20 नवंबर, 2019 को कश्मीरा ने वॉट्सऐप पर कुछ पेपर कटिंग और न्यूज क्लिप शेयर की थीं। इसमें राष्ट्रपति कार्यालय और PM मोदी के साइन वाले दो लेटर भी थे।’

‘प्रधानमंत्री के साइन वाले लेटर में लिखा था कि कश्मीरा की नियुक्ति नेशनल एडवाइजर ऑफ PM और काउंसलर ऑफ इंडिया के तौर पर की गई है। वहीं, गणेश ने रॉ ऑफिसर होने का दावा किया। उसने केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से जारी हथियार लाइसेंस भी शेयर किया था।’

PM मोदी के साइन वाले इस लेटर पर 20 नवंबर, 2019 की तारीख है। इसमें कश्मीरा पवार को नेशनल एडवाइजर ऑफ PM बनाए जाने की बात लिखी है।

गोरख मराल आगे बताते हैं, ‘कश्मीरा और गणेश ने सरकारी टेंडर दिलाने के बदले मुझसे 50 लाख रुपए मांगे। मैंने दिसंबर, 2019 से मार्च 2022 के बीच कैश और ऑनलाइन पैसे दे दिए। इसके बाद दोनों ने वॉट्सऐप पर मेरे साथ ‘टेंडर डॉक्यूमेंट’ शेयर किया। इस दौरान दोनों पुणे में काउंसिल हॉल और दूसरी जगहों पर कई बार मिले भी थे।’

गोरख मराल ने बयान में कहा, ‘मैंने कश्मीरा और गणेश पर भरोसा किया। कश्मीरा कहती थी कि गणेश उसका पति है। मुझे पता चला कि दोनों ठग हैं, तो मैंने अपना पैसा वापस मांगा। कश्मीरा ने 2023 में मेरे खिलाफ जबरन वसूली का झूठा केस दर्ज करा दिया।’

गणेश ने ये फोटो 10 अगस्त 2019 को पोस्ट की थी। उसने लिखा कि इंडिपेंडेंस डे सेलिब्रेशन पर VVIP इनविटेशन मिला है

गोरख मराल के खिलाफ ये केस 10 जनवरी, 2023 को सातारा सिटी पुलिस स्टेशन में दर्ज है। इसमें कश्मीरा ने गोरख मराल और सातारा के होटल कारोबारी फिलिप भंबल सहित दो और लोगों पर 50 लाख रुपए मांगने और 50 हजार रुपए जबरन लेने का आरोप लगाया था।

इस FIR में कश्मीरा के PMO में अफसर होने का जिक्र नहीं है। सिर्फ इतना लिखा है कि कश्मीरा ने सोशल साइंस से मास्टर डिग्री की है। ये भी लिखा है कि 2014-15 में सातारा के छत्रपति शिवाजी कॉलेज में रहने के दौरान कश्मीरा ने ‘मेक इन इंडिया’ और ‘ग्रामीण विकास परियोजना’ पर एक प्रोजेक्ट बनाया था, जिसे 2016 में पहला पुरस्कार मिला था।

तीसरा किरदार: विनय कदम (बदला हुआ नाम), पत्रकार

कश्मीरा का पहला इंटरव्यू लिया, अब लोग सवाल पूछ रहे

कश्मीरा का पहला टीवी इंटरव्यू पत्रकार विनय कदम ने लिया था। वे बताते हैं, ‘कश्मीरा के PMO का सलाहकार बनने की खबर कई अखबारों ने फ्रंट पेज पर छापी थी। मैं उसके घर पहुंचने वाला पहला पत्रकार था। वो इंटरव्यू में इतनी कॉन्फिडेंट थी कि मुझे लगा ही नहीं कि झूठ बोल रही है।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *